नई दिल्ली, स्पोर्ट्स डेस्क। चेपॉक के मैदान पर पहली बार उतरी गुजरात टाइटंस का पहला क्वालिफायर में हाल बेहाल रहा। चेन्नई सुपर किंग्स को पटखनी देकर डायरेक्ट फाइनल में एंट्री मारने का हार्दिक पांड्या का सपना मंगलवार की रात चकनाचूर हो गया।

हालांकि, सीएसके के हाथों मिली हार के बावजूद गुजरात आईपीएल 2023 से बाहर नहीं हुई है और टीम को अपने खिताब का बचाव करने का अभी एक और मौका मिलेगा।

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मिली हार के बाद अब हार्दिक पांड्या की सेना को दूसरे क्वालिफायर में अपनी गलती सुधारने का मौका मिलेगा।

एलिमिनेटर मैच में जो टीम जीत दर्ज करेगी, उसका सामना दूसरे क्वालिफायर में गुजरात टाइटंस के साथ होगा। ऐसे में गुजरात इस हार से सबक लेकर दूसरे क्वालिफायर में दमदार खेलने दिखाने के इरादे से मैदान पर उतरेगी।

गुजरात ने लीग स्टेज को टॉप पर रहते हुए फिनिश किया था, यही वजह है कि टीम को खिताब बचाने का एक और चांस मिलेगा।

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ गुजरात टाइटंस का बैटिंग ऑर्डर ताश के पत्तों की तरह बिखर गया। शुभमन गिल को छोड़कर टीम का कोई भी बैटर टिककर सीएसके के गेंदबाजों का सामना नहीं कर सका। गिल ने 42 रन की शानदार पारी खेली और उनके आउट होते ही डिफेंडिंग चैंपियन ने लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए। 173 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी गुजरात की पूरी टीम महज 157 रन बनाकर ऑलआउट हो गई।

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम रिकॉर्ड 10वीं बार आईपीएल के फाइनल में पहुंची है। पहले क्वालिफायर मुकाबले में टीम के लिए सबकुछ अच्छा घटा। बल्लेबाजी में रुतुराज गायकवाड़ और कॉनवे ने बल्ले से रंग जमाया, तो गेंदबाजी में जडेजा और तीक्षणा की फिरकी ने भी चेपॉक में खूब कमाल दिखाया। 28 मई की रात अब चेन्नई आईपीएल की ट्रॉफी को पांचवीं बार अपने नाम करने के इरादे से मैदान पर उतरेगी।